फोरेक्स के मूल बातें

अस्थिर ब्याज क्या है?

अस्थिर ब्याज क्या है?

अस्थिर बाजार में निवेश का बड़ा मौका, इन 3 तरीकों से बनेगा पैसा ही पैसा

मुंबई. अमेरिका में फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में कटौती के फैसले के बाद दुनियाभर के शेयर बाजारों में गिरावट का सिलसिला जारी है. भारत में भी बेंचमार्क इंडेक्स Nifty50 पिछले 8 ट्रेडिंग सेशन में करीब 6 फीसदी से ज्यादा टूट चुका है. 18096 के उच्च स्तर से इसमें 1271 प्वाइंट की गिरावट आ गई है. लगातार बिकवाली से निवेशकों को चिंता सताने लगी है कि आखिर गिरावट का यह सिलसिला कब खत्म होगा, साथ ही इस तरह के अस्थिर बाजार में निवेश कैसे किया जाए.

बाजार की अस्थिरता को दर्शाना वाला इंडिया VIX गिरावट के कारण 17% बढ़ गया है. ऐसे में निवेशक और ज्यादा परेशान हो गए हैं. बाजार से जुड़े जानकारों का कहना है कि निफ्टी के लिए अब 16640 का स्तर अहम है. वहीं इन मार्केट एक्सपर्ट्स ने ऐसे वॉलेटाइल बाजार में अस्थिर ब्याज क्या है? इन्वेस्टमेंट के लिए 3 जरूरी सलाह दी हैं.

SIP की शुरुआत करें

बाजार की इस गिरावट में सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के प्रवाह पर मामूली प्रभाव पड़ा है, कुल मिलाकर अब भी मजबूी बनी हुई है. अगर कोई निवेशक 3-5 साल की लंबी अवधि के लिए निवेश कर रहे हैं तो गिरावट पर एसआईपी के जरिए खरीदारी जारी रखनी चाहिए. लंबी अवधि के लिए खरीदारी करने वालों के लिए गिरावट का यह बाजार बेहद फायदेमंद है. अगस्त में एसआईपी के माध्यम से रिकॉर्ड ₹12693 करोड़ एकत्र किया गया था, जबकि एसआईपी एयूएम अगस्त 2022 तक वित्तीय वर्ष में ₹6.4 लाख करोड़ था.

लंबी अवधि का नजरिया रखें

शेयर बाजार में जारी इस गिरावट पर 3 से 6 महीने का नजरिया रखकर निवेश नहीं करें. क्योंकि इस मार्केट कंडीशन में लंबी अवधि के लिए पैसा लगाकर तगड़ा रिटर्न हासिल किया जा सकता है. बाजार के विश्लेषकों का मानना है कि निफ्टी के लिए 16640 महत्वपूर्ण स्तर है. अगर यह लेवल टूटता है तो बाजार और नीचे की तरफ जा सकता है. बाजार आरबीआई द्वारा रेपो रेट में की जाने वाली बढ़ोतरी को पचा चुका है.

हर गिरावट पर करें खरीदारी

लंबी अवधि के निवेशकों को यह बाजार बेहद अच्छे मौके दे रहा है इसलिए हर गिरावट पर खरीदी की रणनीति के साथ काम करें. बीएफएसआई का बाजार गिरावट पर खरीदारी के लिए अच्छा है. ब्रेंट ऑयल 90 डॉलर प्रति बैरल से नीचे ट्रेड कर रहा है और सोने के भाव में गिरावट के बाजार में आगे भी अस्थिरता देखने को मिल सकती है. महंगाई पर नियंत्रण के लिए अमेरिकी फेडरल रिजर्व की आक्रामक नीतियों के कारण डॉलर लगातार मजबूत हो रहा है जिससे भारतीय रूपया और गोल्ड के भाव में गिरावट आई है.

अक्टूबर 2021 में निफ्टी के 18604 का रिकॉर्ड उच्च स्तर छूने के बाद इस साल जून में 15183 का लेवल छुआ था. तब से बाजार लगभग 18% बढ़ा और विदेशी संस्थागत निवेशकों ने जुलाई और अगस्त में खरीदारी की.

Inflation: क्या कमरतोड़ महंगाई के लिए BJP है ‘गुनाहगार’? RBI गवर्नर ने दिए सभी सवालों के जवाब, बताई सच्चाई

Inflation: इसके साथ ही उन सभी विपक्षी दलों को करारा जवाब देते हुए आरबीआई गवर्नर ने कहा कि हम कई देशों से बेहतर हैं। जो लोग हमें दूसरे देशों के विकास और अर्थव्यवस्था के विकास का हवाला देते हैं, वो पहले ये जान लें कि आज यूरोपीय यूनियन मंदी की कगार पर खड़ा है।

November 12, 2022

BJP

नई दिल्ली। कभी महंगाई तो कभी बेरोजगारी तो कभी ढलती जीडीपी तो कभी कानून व्यवस्था को लेकर मोदी सरकार को आड़े हाथों लेने में मशगूल रहने वाली विपक्षी दलों की बोलती इस बार मोदी सरकार के किसी मंत्री ने नहीं, बल्कि आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कर दी। उन्होंने परोक्ष रूप से ही सही लेकिन मोदी सरकार द्वार किए जा रहे कार्यों को देशहित में बताया। उन्होंने अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर मोदी सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों का उल्लेख किया। इसी बीच दास ने अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर संभावित चुनौतियों का भी उल्लेख किया। आइए, आपको बताते हैं कि आखिर शक्तिकांत दास अस्थिर ब्याज क्या है? ने क्या कुछ कहा?

PM Modi to be Invited for SAARC Summit, Says Pakistan Foreign Office

तो वो सभी लोग जो मोदी सरकार के विरोध में माहौल बनाने के लिए अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर किसी मुद्दे की ताक में बैठे हैं। ऐसे सभी लोगों को शक्तिकांत दास ने झटका देते हुए कहा कि इस बार देश की महंगाई दर सात फीसद से कम होने जा रही है। उन्होंने आगे कहा कि मौजूदा वक्त में बेशुमार दुश्वारियां हैं, जिनसे निपटने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। दास ने कहा कि इस बार देश का आर्थिक विकास दर भी सात फीसद से ऊपर होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि बैंकिंग सेक्टर की भी हालत बेहतर रहेगी। इसके अलावा दास ने विकास दर को लेकर भी शुभ संकेत दिए। उन्होंने कहा कि इस बार विकास दर सात फीसद से अधिक होने जा रहा है। वहीं शक्तिकांत दास ने आईएमएफ का हवाला देते हुए कहा कि विकास दर 6 फीसद के आंकड़े को भी पार कर सकता है। इस बीच दास ने कोरोना काल के दौरान की चुनौतियों का जिक्र कर कहा कि आर्थिक मोर्चे पर देश को कोरोना से तगड़ा झटका लगा है।

अर्थात्: आगे और महंगाई है! - athart inflation will increase more in next two years know why - AajTak

इसके साथ ही उन सभी विपक्षी दलों को करारा जवाब देते हुए आरबीआई गवर्नर ने कहा कि हम कई देशों से बेहतर हैं। जो लोग हमें दूसरे देशों के विकास और अर्थव्यवस्था के विकास का हवाला देते हैं, वो पहले ये जान लें कि आज यूरोपीय यूनियन मंदी की कगार पर खड़ा है। अमेरिका भी अस्थिर हालत में है। इन सभी परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए अगर भारत की बात करें तो आज हम कई मायनों में बेहतर हैं। हालांकि, वर्तमान में जो दुश्वारियां हैं, उसे कम करने की दिशा में काम किया जा रहा है। अब ऐसी स्थिति में अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर सरकार क्या कुछ कदम उठाती है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी। बहरहाल, बतौर पाठक शक्तिकांत दास की तकरीरों पर आपका क्या कुछ कहना है। आप हमें कमेंट कर बताना बिल्कुल भी मत भूलिएगा। तब तक के लिए आप देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरों से रूबरू होने के लिए पढ़ते रहिए। न्यूज रूम पोस्ट.कॉम

Option Trading Meaning in Hindi

Flash Sale Poster 1 e1668415226873

ऑप्शन ट्रेडिंग की शुरूआत प्राचीन ग्रीस में हुई थी, जहां व्यक्ति जैतून की फसल पर अटकलें लगाते थे। आजकल आप ऑप्शन ट्रेडिंग क्या है। सीख सकते है। और फारेक्स , स्टाॅक , वस्तुएं, बानॅड और स्टाॅक मार्केट सुचकांक जैसे अधिकांष बाजारों में विकल्प ट्रेडिंग रणनीतियों का उपयोग कर सकते है।

जो लोग ऑनलाइन ट्रेडिंग में भाग लेते है। उनके लिए सबसे लोकप्रिय तरीकों में से एक है। स्टाॅक विकल्प ट्रेडिंग । ऑनलाइन ऑप्शन ट्रेडिंग में यदि आप एक विकल्प अनुबंध खरीदते है। तो यह आप को भविष्य में किसी निष्चित तिथि से पहले या एक निर्धारित मुल्य पर अंतर्निहित परिसंपत्ति को खरीदने या बेचने की अधिकार देता है। लेकिन कोई बाध्यता नहीं है।

Option Trading और अन्य उत्पादों के बीच सबसे बड़ा अंतर यह है। कि विकल्प अनुंबधों की समाप्ति तिथियां होती है। इसका मतलब यह है। कि व्यापार पर अपेक्षित लाभ उस समय से स्पष्ट नहीं है। जब व्यापार शुरू किया जाता है। तो न केवल व्यापारी को सही दिषा चुनने की आवष्यकता होती है। उन्हें यह भी अनुमान लगाने की आवष्यकता होती है। कि बाजार कब तक उनकी दिषा में आगे बढ़ेगा साथ ही चाल की अपेक्षित अस्थिरता क्या होगा। एक विकल्प की कीमत अस्थिरता परिवर्तन ब्याज दरों में परिवर्तन आयतन और कई अन्य कारकों के ऊपर निर्भर है।

लेकिन इस ऑप्शन ट्रेडिंग गाइड इन में हम उतने जटिल सिद्धांतों में नहीं जायेंगें। फिलहाल आइए थोड़ा और गहराई से ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें को समझें और व्यापार के विभिन्न प्रकारों के लिए उपलब्ध रणनीतियों के बारे में थोड़ा और जानें।

ऑप्शन ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है।

सबसे पहले यह जानना जरूरी है। कि ऑप्शन ट्रेडिंग दो प्रकार की होती है।

कालॅ ऑप्शन क्या है।

एक कालॅ विकल्प खरीदने से खरीदार को एक पूर्व निर्धारित कीमत पर एक पूर्व निर्धारित तिथि में एक कंपनी के शेयरों को खरीदने का अधिकार मिलता है। लेकिन दायित्व नहीं कालॅ ऑप्शन ट्रेडिंग में अस्थिर ब्याज क्या है? विक्रता के पास दायित्व होती है। क्योंकि यदि काॅल खरीदार शेयर खरीदने का विकल्प लेने का फैसला करते है। तो काॅल लेखक अपने शेयरों को पूर्व निर्धारित मूल्य पर खरीदार को बेचने के लिए बाध्य है।

कालॅ विकल्प उदाहरण

मान लीजिए कि एक व्यापारी ने 180 के स्ट्राइक मूल्य के साथ एप्पल पर कालॅ विकल्प खरीदा जो छह सप्ताह के बाद समाप्त होने वाला था। इसका मतलब है। कि काॅल विकल्प खरीदने वाले व्यापारी को प्रति शेयर 180 अस्थिर ब्याज क्या है? का भुगतान कर उस विकल्प का उपयोग करने का अधिकार है।

पुट ऑप्शन क्या है।

पुट ऑप्शन खरीदने से खरीदार को अधिकार मिलता है। लेकिन बाध्यता नहीं की वो एक पूर्व निर्धारित स्ट्राइक मूल्य पर पूर्वनिर्धारित समय पर अंतर्निहित स्टाॅक को बेचें। पूट ऑप्शन में व्यापारी स्टाॅक की कीमत मेें गिरावट पर दावं लगा रहा है। और बाजार में अनिवार्य रूप से शाॅर्टिंग कर रहा है।

पुट ऑप्शन ट्रेडिंग उदाहरण

पुट क्या होता है और भी अच्छी तरह समझने के लिए आइए एक स्टाॅक विकल्प ट्रेडिंग उदाहरण देखें।

मान लीजिए कि टेस्ला प्रति शेयर पर कारोबार कर रहा है। और इस स्टाइक मूल्य पर पुट ऑप्शन की कीमत प्रति कॉन्ट्रैक्ट है। जो तीन महीने के समय में समाप्त हो रही है।

जैसा कि एक विकल्प अनुबंध 100 शेयरों के बराबर है। 1 पुट की लागत 600 है। 100 शेयर 1 पुट इसे विकल्प प्रीमियम के रूप में भी जाना जाता है। व्यापारी की टू ब्रेक इवन कीमत स्ट्राइक अस्थिर ब्याज क्या है? मूल्य कम पुट कीमत है। इस उदाहरण में योग होगा।

यदि अनुबंध की समाप्ति तिथि पर टेस्ला का अंतर्निहित स्टाॅक मूल्य 354 और 360 के बीच कारोबार कर रहा है। तो विकल्प में कुछ मूल्य होगा। लेकिन लाभ नहीं दिखाएगा। यदि शेयर की कीमत 360 के स्ट्राइक मूल्य से ऊपर रहती है। तो विकल्प फिर बेकार हो जाएगा। और व्यापारी पुट के लिए भुगतान की गई कीमत को खो देगा। यदि शेयर की कीमत 354 और उससे कम हो जाती है। तो व्यापारी लाभ में होने लगेगा।

ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें।

विकल्प ट्रेडिंग उदाहरण को सीखते समय एक विकल्प की कीमत पर सभी प्रभाव को समझना महत्वपूर्ण है।

विकल्प पारंपरिक प्रतिभूतियाँ है। जिसका अर्थ है। कि बहूत कम विकल्प वास्तव में समाप्त होते है। और आखिर में शेयर हस्तांतरित होता है। ऐसा इसलिए है। क्योंकि अधिकांष व्यापारी केवल अंतर्निहित संपत्ति की कीमत की गति पर सटा लगाने के लिए एक वाहन के रूप में उनका उपयोग करते है। हालाकिं सभी विकल्प अपनी अंतर्निहित परिसंपत्तियों कें मूल्य आंदोलन का अनुसरण नहीं करतें है। ऐसा इसलिए है। क्योंकि एक विकल्प का मूल्य समय के साथ कम हो जाता है।

यह अजीब लग सकता है। लेकिन इसी कारण से कई लोग खासकर शुरूआती व्यापारिया विकल्प ट्रेडिंग में पैसा खो देते है। इसीलिए विकल्प ट्रेडिंग रणनीतियों का उपयोग करते समय व्यापारियों के लिए यूनानियों को समझना महत्वपूर्ण है। डेल्टा, वेगा, गामा, थीटा।

ये सांख्यिकीय मूल्य है। जो एक विकल्प अनुबंध के व्यापार से जुड़े जोखिमों को मापते है।

डेल्टाः-

यह मूल्य अंतर्निहित परिसंपत्ति की कीमत में बदलाव के लिए विकल्प की मूल्य संवेदनषीलता को मापता है। अर्थात यह उन बिंदुओं की संख्या है। जो अंतर्निहित परिसंपत्ति में प्रत्येक एक बिदुं परिवर्तन के लिए विकल्प की कीमत का स्थानांतरन को दिखाता है। अंतर्निहित परिसंपत्ति में एक बिंदु चाल हमेंषा आपके विकल्प मूल्य में एक बिदुं के कदम के बराबर नहीं होगी। डेल्टा मान काॅल विकल्पों के लिए 0 और 1 के बीच होती है। और पुट विकल्पों के लिए 0 और 1 के बीच होते है।

यह मूल्य अंतर्निहित संपत्ति की अस्थिरता मे। बदलाव के लिए विकल्प की स्वेदनशीलताको मापता है। यह अंतर्निहित बाजार की अस्थिरता में अस्थिर ब्याज क्या है? 1 परिवर्तन के जवाब में एक विकल्प की कीमत कितनी बदल जाएगी। उस राषि का प्रतिनिधित्व करता है।

यह मूल्य अंतर्निहित उपकरण के भीतर मूल्य परिवर्तन के जवाब में डेल्टा मूल्य की स्वेदनशीलता को मापता है।

थीटाः- यह मान किसी विकल्प के समय के क्षय को मापता है। विकल्प समाप्ति की तारीख के जितना करीब होता है उतना ही बेकार हो सकता है। थीटा प्रत्येक दिन एक सैद्धान्तिक डाॅलर मूल्य में विकल्प का मूल्य में घटौती मापता है।

स्प्रेड

ऑप्शन ट्रेडिंग अधिक लोकप्रिय है। क्योंकि यह एक व्यापारी को अपने जोखिम को सीमित करने की अनुमति देता है। इस प्रकार की रणनीति में एक व्यापारी एक साथ विकल्प खरीद और बेच सकते है। इसका उदाहरण एक बुल काॅल स्प्रेड है। जहां एक व्यापारी एक विषिष्ट स्ट्राइक मूल्य पर एक काॅल खरीदते हैं जबकि वह एक ही समाप्ति के साथ एक ही साधन पर उच्च स्ट्राइक मूल्य पर समान काॅल बेचते है।

मेटा, ट्विटर के अलावा 2022 में इन बड़ी टेक कंपनियों ने भारी मात्रा में की कर्मचारियों की छंटनी, देखें सूची

अक्टूबर, 2022 के महीने में भारत की सबसे बड़ी एड-टेक कंपनी Byjus ने भी लगभग 2,500 नौकरियों में कटौती की, जो कंपनी के कुल कर्मचारियों की संख्या का लगभग 5% है।

Apart from Meta Twitter tech companies snap microsoft byjus strip lyft salseforce laid off employees in 2022 | मेटा, ट्विटर के अलावा 2022 में इन बड़ी टेक कंपनियों ने भारी मात्रा में की कर्मचारियों की छंटनी, देखें सूची

मेटा, ट्विटर के अलावा 2022 में इन बड़ी टेक कंपनियों ने भारी मात्रा में की कर्मचारियों की छंटनी, देखें सूची

Highlights ट्विटर ने 3,700 कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया। लोकप्रिय कैब-सेवा प्रदाता कंपनी Lyft ने भी इस साल 700 लोगों को नौकरी से निकाल दिया। चीनी कंपनी Tencent ने भी अगस्त 2022 में लगभग 5,500 कर्मचारियों की छंटनी की।

विश्व की दिग्गज टेक कंपनी मेटा ने बुधवार को अपने 11000 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया। मेटा के सीईओ और संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने घोषणा की कि कंपनी को लगभग 11,000 नौकरियों में कटौती करनी होगी जो उनके वैश्विक कर्मचारियों की कुल नौकरियों का 13% है। मेटा दुनिया की सबसे बड़ी टेक कंपनियों में से एक है। उनके पास फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप, ओकुलस वीआर, बेलुगा समते कई अन्य प्रमुख तकनीकी ऐप हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक मेटा पिछले कुछ महीनों से कई मुद्दों का सामना कर रही है। इसमें प्रमुख तौर पर विज्ञापन से होने वाला आय शामिल है। मेटा के लिए आय का एक मुख्य स्रोत विज्ञापन है, जो वैश्विक आर्थिक मुद्दों के कारण प्रभावित हुआ है। ऐप्पल की नई गोपनीयता नीतियों के कारण मेटा के पास अब उपयोगकर्ताओं की सहमति के बिना उनका डेटा को हाथ नहीं लगा सकती। इससे यह हुआ कि उसके लिए विज्ञापन उद्देश्यों के लिए सटीक उपयोगकर्ता प्रोफाइल बनाना कठिन हो गया। इसका असर उसके बैलेंस सीट पर पड़ा।

गौरतलब बात है कि बड़ी छंटनी केवल मेटा तक ही सीमित नहीं है। मेटा के अलावा इस साल कई अन्य टेक कंपनियों ने भी नौकरियों की छंटनी की है। कई अन्य तकनीकी कंपनियां आर्थिक स्थितियों और अन्य कारकों के कारण कर्मचारियों को सामूहिक रूप से निकालने का विकल्प चुन रही हैं।

क्रंचबेस की एक हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, यूएस-आधारित टेक फर्मों ने अक्टूबर 2022 तक 45,000 से अधिक कर्मचारियों को निकाल दिया है।

ट्विटर (Twitter)

टेस्ला के मालिक एलन मस्क द्वारा ट्विटर का अधिग्रहण करने के बाद कंपनी ने अपने 50 प्रतिशत कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया। संख्या में बात करें तो मस्क ने 3,700 कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया। ट्विटर पर ब्याज और ऋण चुकौती में लगभग $ 1.2 का बकाया है।

सेल्सफोर्स (Salesforce)

सेल्सफोर्स ने भी अपने वैश्विक कार्यबल में कटौती की है। सेल्सफोर्स ने सैकड़ों कर्मचारियों के नौकरी से निकाल दिया था। हेज फंड स्टारबोर्ड वैल्यू द्वारा कंपनी में हिस्सेदारी खरीदने के बाद उसको लागत में कटौती के लिए कुछ दबाव का सामना करना पड़ रहा है।

Lyft

लोकप्रिय कैब-सेवा प्रदाता कंपनी Lyft ने भी संभावित मंदी की आशंका का हवाला देते हुए अपने लगभग 700 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया। रिपोर्टों के अनुसार, कंपनी ने यह कदम कमजोर अर्थव्यवस्था से निपटने और लागत में कटौती करने के लिए उठाया क्योंकि मुद्रास्फीति की वजह से उनके खर्च में बढ़ोतरी हुई है। Lyft ने इससे पहले जुलाई, 2022 में 60 लोगों को नौकरी से हटा दिया था।

स्ट्रिप (Strip)

एक प्रमुख ऑनलाइन भुगतान प्रसंस्करण कंपनी स्ट्रिप ने भी अपने कार्यबल में कटौती की थी। उसने अपने 1000 कर्मचारियों को निकाल दिया जो उसके कुल कार्यबल का लगभग 14% है। रिपोर्ट के मुताबिक, लागत में कटौती और धीमी और अस्थिर अर्थव्यवस्था में मुनाफे पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कंपनी में कई डिवीजनों में नौकरियों को कम किया जाएगा।

Microsoft

इसी साल के जुलाई में तकनीकी दिग्गज Microsoftने 'सही व्यावसायिक प्राथमिकताएँ निर्धारित करने और संरचनात्मक समायोजन' करने के लिए कई डिवीजनों में लगभग 1,000 कर्मचारियों की छंटनी की। कंपनी ने संभावित आर्थिक मंदी का सामना करने अस्थिर ब्याज क्या है? के लिए हायरिंग को भी धीमा कर दिया है।

Tencent

चीन की तकनीकी दिग्गज कंपनी Tencent ने भी अगस्त 2022 में लगभग 5,500 कर्मचारियों की छंटनी की। और एक दशक में ऐसा पहली बार हुआ है कि उसने लोगों को नौकरी पर रखना बंद कर दिया है। छंटनी Tencent के स्वामित्व वाले गेमिंग समाचार प्रकाशन फैनबाइट में हुई थी। बताया गया कि कथित तौर पर छंटनी पिछली तिमाही में घटते राजस्व के कारण हुई।

Byjus

अक्टूबर, 2022 के महीने में भारत की सबसे बड़ी एड-टेक कंपनी Byjus ने भी लगभग 2,500 नौकरियों में कटौती की, जो कंपनी के कुल कर्मचारियों की संख्या का लगभग 5% है। इसके अलावा, Byjus इस वित्तीय वर्ष के भीतर वित्त को बेहतर ढंग से प्रबंधित करने और लाभदायक बनने के लिए विपणन विभाग और अन्य तरीकों में लागत में कटौती करना चाहता है।
बताते चलें कि स्ट्रीमिंग ऐप नेटफ्लिक्स ने भी 450 तो स्नैप ने 1,000 कर्मचारियों को नौकरी से हटा दिया था।

Option Trading Meaning in Hindi

Flash Sale Poster 1 e1668415226873

ऑप्शन ट्रेडिंग की शुरूआत प्राचीन ग्रीस में हुई थी, जहां व्यक्ति जैतून की फसल पर अटकलें लगाते थे। आजकल आप ऑप्शन ट्रेडिंग क्या है। सीख सकते है। और फारेक्स , स्टाॅक , वस्तुएं, बानॅड और स्टाॅक मार्केट सुचकांक जैसे अधिकांष बाजारों में विकल्प ट्रेडिंग रणनीतियों का उपयोग कर सकते है।

जो लोग ऑनलाइन ट्रेडिंग में भाग लेते है। उनके लिए सबसे लोकप्रिय तरीकों में से एक है। स्टाॅक विकल्प ट्रेडिंग । ऑनलाइन ऑप्शन ट्रेडिंग में यदि आप एक विकल्प अनुबंध खरीदते है। तो यह आप को भविष्य में किसी निष्चित तिथि से पहले या एक निर्धारित मुल्य पर अंतर्निहित परिसंपत्ति को खरीदने या बेचने की अधिकार देता है। लेकिन कोई बाध्यता नहीं है।

Option Trading और अन्य उत्पादों के बीच सबसे बड़ा अंतर यह है। कि विकल्प अनुंबधों की समाप्ति तिथियां होती है। इसका मतलब यह है। कि व्यापार पर अपेक्षित लाभ उस समय से स्पष्ट नहीं है। जब व्यापार शुरू किया जाता है। तो न केवल व्यापारी को सही दिषा चुनने की आवष्यकता होती है। उन्हें यह भी अनुमान लगाने की आवष्यकता होती है। कि बाजार कब तक उनकी दिषा में आगे बढ़ेगा साथ ही चाल की अपेक्षित अस्थिरता क्या होगा। एक विकल्प की कीमत अस्थिरता परिवर्तन ब्याज दरों में परिवर्तन आयतन और कई अन्य कारकों के ऊपर निर्भर है।

लेकिन इस ऑप्शन ट्रेडिंग गाइड इन में हम उतने जटिल सिद्धांतों में नहीं जायेंगें। फिलहाल आइए थोड़ा और गहराई से ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें को समझें और व्यापार के विभिन्न प्रकारों के लिए उपलब्ध रणनीतियों के बारे में थोड़ा और जानें।

ऑप्शन ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है।

सबसे पहले यह जानना जरूरी है। कि ऑप्शन ट्रेडिंग दो प्रकार की होती है।

कालॅ ऑप्शन क्या है।

एक कालॅ विकल्प खरीदने से खरीदार को एक पूर्व निर्धारित कीमत पर एक पूर्व निर्धारित तिथि में एक कंपनी के शेयरों को खरीदने का अधिकार मिलता है। लेकिन दायित्व नहीं कालॅ ऑप्शन ट्रेडिंग में विक्रता के पास दायित्व होती है। क्योंकि यदि काॅल खरीदार शेयर खरीदने का विकल्प लेने का फैसला करते है। तो काॅल लेखक अपने शेयरों को पूर्व निर्धारित मूल्य पर खरीदार को बेचने के लिए बाध्य है।

कालॅ विकल्प उदाहरण

मान लीजिए कि एक व्यापारी ने 180 के स्ट्राइक मूल्य के साथ एप्पल पर कालॅ विकल्प खरीदा जो छह सप्ताह के बाद समाप्त होने वाला था। इसका मतलब है। कि काॅल विकल्प खरीदने वाले व्यापारी को प्रति शेयर 180 का भुगतान कर उस विकल्प का उपयोग करने का अधिकार है।

पुट ऑप्शन क्या है।

पुट ऑप्शन खरीदने से खरीदार को अधिकार मिलता है। लेकिन बाध्यता नहीं की वो एक पूर्व निर्धारित स्ट्राइक मूल्य पर पूर्वनिर्धारित समय पर अंतर्निहित स्टाॅक को बेचें। पूट ऑप्शन में व्यापारी स्टाॅक की कीमत मेें गिरावट पर दावं लगा रहा है। और बाजार में अनिवार्य रूप से शाॅर्टिंग कर रहा है।

पुट ऑप्शन ट्रेडिंग उदाहरण

पुट क्या होता है और भी अच्छी तरह समझने के लिए आइए एक स्टाॅक विकल्प ट्रेडिंग उदाहरण देखें।

मान लीजिए कि टेस्ला प्रति शेयर पर कारोबार कर रहा है। और इस स्टाइक मूल्य पर पुट ऑप्शन की कीमत प्रति कॉन्ट्रैक्ट है। जो तीन महीने के समय में समाप्त हो रही है।

जैसा कि एक विकल्प अनुबंध 100 शेयरों के बराबर है। 1 पुट की लागत 600 है। 100 शेयर 1 पुट इसे विकल्प प्रीमियम के रूप में भी जाना जाता है। व्यापारी की टू ब्रेक इवन कीमत स्ट्राइक मूल्य कम पुट कीमत है। इस उदाहरण में योग होगा।

यदि अनुबंध की समाप्ति तिथि पर टेस्ला का अंतर्निहित स्टाॅक मूल्य 354 और 360 के बीच कारोबार कर रहा है। तो विकल्प में कुछ मूल्य होगा। लेकिन लाभ नहीं दिखाएगा। यदि शेयर की कीमत 360 के स्ट्राइक मूल्य से ऊपर रहती है। तो विकल्प फिर बेकार हो जाएगा। और व्यापारी पुट के लिए भुगतान की गई कीमत को खो देगा। यदि शेयर की कीमत 354 और उससे कम हो जाती है। तो व्यापारी लाभ में होने लगेगा।

ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें।

विकल्प ट्रेडिंग उदाहरण को सीखते समय एक विकल्प की कीमत पर सभी प्रभाव को समझना महत्वपूर्ण है।

विकल्प पारंपरिक प्रतिभूतियाँ है। जिसका अर्थ है। कि बहूत कम विकल्प वास्तव में समाप्त होते है। और आखिर में शेयर हस्तांतरित होता है। ऐसा इसलिए है। क्योंकि अधिकांष व्यापारी केवल अंतर्निहित संपत्ति की कीमत की गति पर सटा लगाने के लिए एक वाहन के रूप में उनका उपयोग करते है। हालाकिं सभी विकल्प अपनी अंतर्निहित परिसंपत्तियों कें मूल्य आंदोलन का अनुसरण नहीं करतें है। ऐसा इसलिए है। क्योंकि एक विकल्प का मूल्य समय के साथ कम हो जाता है।

यह अजीब लग सकता है। लेकिन इसी कारण से कई लोग खासकर शुरूआती व्यापारिया विकल्प ट्रेडिंग में पैसा खो देते है। इसीलिए विकल्प ट्रेडिंग रणनीतियों का उपयोग करते समय व्यापारियों के लिए यूनानियों को समझना महत्वपूर्ण है। डेल्टा, वेगा, गामा, थीटा।

ये सांख्यिकीय मूल्य है। जो एक विकल्प अनुबंध के व्यापार से जुड़े जोखिमों को मापते है।

डेल्टाः-

यह मूल्य अंतर्निहित परिसंपत्ति की कीमत में बदलाव के लिए विकल्प की मूल्य संवेदनषीलता को मापता है। अर्थात यह उन बिंदुओं की संख्या है। जो अंतर्निहित परिसंपत्ति में प्रत्येक एक बिदुं परिवर्तन के लिए विकल्प की कीमत का स्थानांतरन को दिखाता है। अंतर्निहित परिसंपत्ति में एक बिंदु चाल हमेंषा आपके विकल्प मूल्य में एक बिदुं के कदम के बराबर नहीं होगी। डेल्टा मान काॅल विकल्पों के लिए 0 और 1 के बीच होती है। और पुट विकल्पों के लिए 0 और 1 के बीच होते है।

यह मूल्य अंतर्निहित संपत्ति की अस्थिरता मे। बदलाव के लिए विकल्प की स्वेदनशीलताको मापता है। यह अंतर्निहित बाजार की अस्थिरता में 1 परिवर्तन के जवाब में एक विकल्प की कीमत कितनी बदल जाएगी। उस राषि का प्रतिनिधित्व करता है।

यह मूल्य अंतर्निहित उपकरण के भीतर मूल्य परिवर्तन के जवाब में डेल्टा मूल्य की स्वेदनशीलता को मापता है।

थीटाः- यह मान किसी विकल्प के समय के क्षय को मापता है। विकल्प समाप्ति की तारीख के जितना करीब होता है उतना ही बेकार हो सकता है। थीटा प्रत्येक दिन एक सैद्धान्तिक डाॅलर मूल्य में विकल्प का मूल्य में घटौती मापता है।

स्प्रेड

ऑप्शन ट्रेडिंग अधिक लोकप्रिय है। क्योंकि यह एक व्यापारी को अपने जोखिम को सीमित करने की अनुमति देता है। इस प्रकार की रणनीति में एक व्यापारी एक साथ विकल्प खरीद और बेच सकते है। इसका उदाहरण एक बुल काॅल स्प्रेड है। जहां एक व्यापारी एक विषिष्ट स्ट्राइक मूल्य पर एक काॅल खरीदते हैं जबकि वह एक ही समाप्ति के साथ एक ही साधन पर उच्च स्ट्राइक मूल्य पर समान काॅल बेचते है।

रेटिंग: 4.97
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 130
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *