ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म और टूल

ग्रे या ब्लैक मार्केट क्या है?

ग्रे या ब्लैक मार्केट क्या है?

टोयोटा अर्बन क्रूजर हाइराइडर कलर

टोयोटा अर्बन क्रूजर हाइराइडर कुल 11 कलर विकल्पों में उपलब्ध है। इनमें गेमिंग ग्रे, speedy ब्लू, कैफ़े व्हाइट with मिडनाइट ब्लैक, sportin रेड with मिडनाइट ब्लैक, एनटाइसिंग सिल्वर, एनटाइसिंग सिल्वर with मिडनाइट ब्लैक, speedy ब्लू with मिडनाइट ब्लैक, केव ब्लैक, मिडनाइट ब्लैक, sportin रेड and कैफ़े व्हाइट कलर शामिल हैं।

Electronics Mart IPO Allotment : आज होगा इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट IPO के शेयरों का आवंटन, जानें- कैसे ऑनलाइन चेक करें अलॉटमेंट स्टेटस?

Electronics Mart IPO Allotment : इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट IPO के शेयरों का आवंटन आज हो सकता है. जिन लोगों ने सार्वजनिक पेशकश के लिए आवेदन किया है, उन्हें यह सलाह दी जाती है कि वे बीएसई की वेबसाइट या इसके आधिकारिक रजिस्ट्रार की वेबसाइट पर लॉग इन करके इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट आईपीओ आवंटन स्थिति की ऑनलाइन जांच कर सकते हैं.

Published: October 12, 2022 8:39 AM IST

Uniparts India IPO

Electronics Mart IPO : 500 करोड़ के सार्वजनिक निर्गम के लिए शेयर आवंटन की घोषणा आज की जा सकती है. इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट आईपीओ के शेयरों के लिए आवंटन की तारीख 12 अक्टूबर 2022 है. जिन लोगों ने सार्वजनिक पेशकश के लिए आवेदन किया है, उन्हें यह सलाह दी ग्रे या ब्लैक मार्केट क्या है? जाती है कि वे बीएसई की वेबसाइट या इसके आधिकारिक रजिस्ट्रार की वेबसाइट पर लॉग इन करके इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट आईपीओ आवंटन स्थिति की ऑनलाइन जांच कर सकते हैं. IPO का आधिकारिक रजिस्ट्रार KFin Technologies Limited है.

Also Read:

ऑनलाइन कैसे चेक करें अलॉटमेंट स्टेटस

बोलीदाता सीधे बीएसई लिंक – bseindia.com/investors/appli_check.aspx या सीधे केफिनटेक लिंक – kprism.kfintech.com/ipostatus पर लॉग इन कर सकता है और अपनी इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट आईपीओ आवंटन स्थिति ऑनलाइन जांच सकता है.

इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट आईपीओ आवंटन: बीएसई पर स्थिति की जांच कैसे करें

बोलीदाता सीधे बीएसई लिंक – bseindia.com/investors/appli_check.aspx पर लॉगिन कर सकता है और अपने आईपीओ आवेदन को ऑनलाइन जांचने के लिए नीचे दिए गए चरण-दर-चरण मार्गदर्शिका का पालन कर सकता है:

  • सीधे बीएसई लिंक पर लॉग इन करें – bseindia.com/investors/appli_check.aspx
  • इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट आईपीओ का चयन करें
  • अपना इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट आईपीओ आवेदन संख्या दर्ज करें
  • अपना पैन कार्ड विवरण दर्ज करें
  • ‘मैं रोबोट नहीं हूं’ पर क्लिक करें
  • ‘सबमिट’ बटन पर क्लिक करें.
  • बीएसई पर आपका इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट आईपीओ आवंटन स्थिति उपलब्ध हो जाएगी.

इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट आईपीओ आवंटन: केफिनटेक पर स्थिति की जांच कैसे करें

वे बोलीदाता जो आधिकारिक रजिस्ट्रार की वेबसाइट पर अपने आईपीओ आवेदन की स्थिति ऑनलाइन जांचना चाहते हैं, उन्हें सीधे केफिनटेक लिंक पर लॉग इन करना होगा – kprism.kfintech.com/ipostatus abnd नीचे दिए गए चरण-दर-चरण मार्गदर्शिका का पालन करें:

  • सीधे KFintech लिंक पर लॉग इन करें — kprism.kfintech.com/ipostatus;
  • इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट आईपीओ पर क्लिक करें;
  • आवेदन संख्या, डीमैट खाता या पैन में से किसी एक का चयन करें
  • आवेदन संख्या दर्ज करें
  • कैप्चा दर्ज करें
  • ‘सबमिट’ विकल्प पर क्लिक करें.
  • आपकी इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट आईपीओ आवंटन स्थिति आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर या आपके स्मार्टफोन या एंड्रॉइड फोन की स्क्रीन पर दिखाई देगी.

इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट आईपीओ जीएमपी

बाजार के जानकारों के मुताबिक, इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट के शेयर आज ग्रे मार्केट में 29 रुपये के प्रीमियम पर उपलब्ध हैं.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Most Preferred Car: भारत नें सफेद रंग की कार पसंद करने वालों की संख्या घटी, और इस कलर की डिमांड बढ़ी

Most Preferred Car: जर्मनी की केमिकल और ऑटोमोटिव सॉल्यूशन कंपनी बीएएसफ की वार्षिक कलर रिपोर्ट-2021 से यह सूचना मिली है। हालांकि, इस खबर के अनुसार, एक ट्रेंड यह भी है कि कार का आकार जितना बड़ा होता जाता है, उसके ब्लैक या ग्रे कलर के होने की संभावना उतनी ही बढ़ती जाती है।

नई दिल्ली। आज कल हर व्यक्ति कार खरीदना चाहता है और खरीदे भी क्यों न कार हमारे लिए बहुत फायदेमंद भी होता है। हमें अगर अपनी फैमिली के साथ कहीं जाना है तो दोपहिया वाहन में एक साथ सारी फैमिली का आना संभव नहीं होता है। ऐसे में व्यक्ति कार खरीदने की ग्रे या ब्लैक मार्केट क्या है? सोचता है अगर वह नई कार नहीं खरीद पाता तो सेकेंड हैंड कार खरीदने की सोचता है। पुरानी कार खरीदने के अपने फायदे और नुकसान होते हैं लेकिन इसके बाद भी बहुत से लोग पुरानी कार खरीदना पसंद करते हैं क्योंकि ऐसा करके वह कम कीमत में कार खरीद पाते हैं। जब भी लोग कार खरीदते हैं तो उसके फीचर्स से लेकर कार के कलर तक सब कुछ के बारे नें वह काफी सोचते होंगे कि कौन से कलर की कार खरीदी जाए या फिर वह पहले से ही मन बनाकर रखते होंगे ग्रे या ब्लैक मार्केट क्या है? कि उन्हें किस कलर की कार खरीदनी है। लेकिन, अगर पूरी दुनिया में देखा जाए तो सबसे ज्यादा सफेद रंग की गाड़ियां पसंद की जाती हैं। जर्मनी की केमिकल और ऑटोमोटिव सॉल्यूशन कंपनी बीएएसफ की वार्षिक कलर रिपोर्ट-2021 से यह सूचना मिली है। हालांकि, इस खबर के अनुसार, एक ट्रेंड यह भी है कि कार का आकार जितना बड़ा होता जाता है, उसके ब्लैक या ग्रे कलर के होने की संभावना उतनी ही बढ़ती जाती है।

ब्लैक कलर की बढ़ी डिमांड

गौरतलब है कि, बीएएसएफ हर साल गाड़ियों के कलर के हिसाब से लोकप्रियता की रिपोर्ट तैयार करता है। मिली जानकारी के अनुसार, भारत में सबसे ज्यादा व्हाइट कलर की गाड़ियां हैं लेकिन ब्लैक की डिमांड भी बढ़ी है। साल 2020 के मुकाबले ब्लैक की लोकप्रियता में 7 फीसदी का मुनाफा हुआ है। वहीं, सफेद कलर की ब्रिकी में कमी आई है, यह 3% घटी है। एसयूवी में खासतौर पर ब्लैक कलर को काफी पसंद किया जा रहा है। हाल के सालों में एसयूवी सेगमेंट की लोकप्रियता अधिक बढ़ी है और इसमें लोगों को ब्लैक रंग की कार काफी पसंद आ रही है।

ग्रीन कलर की कार की डिमांड

हालांकि, खबरो के अनुसार, भारत में ग्रीन कलर को लेकर पूरी दुनिया में एक अलग ही ट्रेंड है। 2020 में भारत में ग्रीन कलर की पॉपुलैरिटी सिर्फ 1% थी, जो 2021 में बढ़कर 3% हो गई है। वहीं, अगर SUV सेगमेंट में इस कलर की बात करें तो इसमें इसकी लोकप्रियता 4% है। बता दें कि बीते कुछ वक्त में भारत में एसयूवी सेगमेंट ने काफी रफ्तार से पकड़ी है और इस सेगमेंट में ब्लैक कलर को पसंद करने वालो की संख्या भी बढ़ी है।

LIC का IPO खुलते ही टूट पड़े निवेशक, 1 घण्टे में बिक गए 17 लाख से ज्यादा शेयर

indianarrative

एलआईसी का आईपीओ खुलते ही निवेशक आईपीओ खरीदने के लिए टूट पड़े और पहले एक ही घण्टे में 17 लाख से ज्यादा शेयर बिक चुके थे। एलआईसी (लाइफ इंश्योरेंस कार्पोरेशन) का मेगा आईपीओआज बुधवार 4 मई से 9 मई तक निवेश के लिए खुला रहेगा। एलआईसीने आईपीओके लिए प्राइस बैंड 902-949 रुपये प्रति शेयर तय किया है। वहीं इसमें लॉट साइज 15 शेयरों का है। अधिकतम 14 लॉट के लिए निवेशक बिड कर सकते हैं। एलआईसीके आईपीओका साइज 21,000 करोड़ रुपये का है। इस इश्यू को लेकर निवेशकों में जमकर क्रेज रहा है। 2 मई को ऐकर निवेशकों ने भी इसे जबरदस्त रिस्पांस दिया था और कंपनी ने उनसे 5627 करोड़ रुपये जुटाए। सवाल यह उठता है कि एलआईसीके आईपीओमें पैसा लगाना फायदे का सौदा होगा या नहीं। क्या अपर प्राइस बैंड 949 रुपये पर दांव लगाना चाहिए। जानते हैं एक्सपर्ट की क्या है इस पर सलाह।

ग्रे मार्केट में एलआईसीके शेयर का भाव घट गया है। यह 3 मई को 85 रुपये की तुलना में आज 65 रुपये पर आ गया है। जबकि पिछले हफ्ते इसका भाव ग्रे माकेट में 90 रुपये पर पहुंच गया था। फिलहाल आज इश्यू खुलने के दिन यह 65 रुपये पर आ गया है। इस लिहाज से शेयर की लिस्टिंग 1014 रुपये (949 + 65 = 1014) यानी 10 फीसदी से कम प्रीमियम पर हो सकती है। हालांकि शेयर की लिस्टिंग होने तक आगे ग्रे मार्केट के भाव में बदलाव देखने को मिलेगा।

विभन्न ब्रोक्रेज हाउसेस का कहना है कि प्रोडक्ट में आगे सुधार की उम्मीद है। वहीं आने वाले सालों में शेयरधारकों के खाते में सरप्लस के अधिक से अधिक ट्रांसफर से मौजूदा समय में लो लेवल से प्रॉफिट बढ़ने की उम्मीद है। इश्यू का वैल्युएशन आकर्षक है। इसके अलावा, रिटेल निवेशकों और पॉलिसीधारकों के लिए 45 रुपये और 60 रुपये की छूट उनके लिए इस इश्यू को और अधिक आकर्षक बनाती है। इसलिए, एलआईसीके आईपीओमें सब्सक्राइब करने की सलाह है।

कुछ ब्रोकर्स का कहना है किसभी फैक्टर्स को ध्यान में रखें तो एलआईसीके आईपीओमें सब्सक्राइब करने की सलाह है। उनका कहना है कि वैल्युएशन के लिहाज से देखें तो अपर प्राइस बैंड पर एलआईसी1.1x एम्बेडेड वैल्यू पर प्राइस्ड है। यह पियर्स की तुलना में डिस्काउंट पर है। आकर्षक वैल्यूएशन को देखते हुए यहां से गिरावट सीमित नजर आ रही है। इसके अलावा रिटेल निवेशकों को भी डिस्काउंट की पेशकश की गई है।

ब्रोकर्स का कहना है कि भारत जैसे देश में अभी इंश्योरेंस की पहुंच बहुत कम है, जिससे सेक्टर में ग्रोथ की बड़ी संभावनाएं हैं। एलआईसीकी बात करें तो यह GWP और NBP के टर्म में मार्केट लीडर है। इससे सेक्टर में आने वाली ग्रोथ का सबसे ज्यादा फायदा इसे मिलेगा। एक फैक्ट यह है कि एलआईसीमार्केट शेयर खो रहा है और साथ ही इंडस्ट्री से कम VNB मार्जिन है, लेकिन कंपनी ने दोनों में सुधार करने की अपनी योजना का संकेत दिया है। बीमा दिग्गज का लक्ष्य अपनी वेबसाइट पर अपने उत्पादों की प्रत्यक्ष बिक्री बढ़ाने और बैंक इंश्योरेंस पर अधिक ध्यान देकर अपनी बाजार हिस्सेदारी बढ़ाने की है। इसके अलावा, कंपनी का फोकस नॉन-पार्टिसिपेटिंग प्रोडक्ट्स और प्रोटेक्शन प्लान के अपनी हिस्सेदारी में सुधार करने के साथ मार्जिन में सुधार करने पर है।

रेटिंग: 4.79
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 735
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *